कूलम्ब का नियम

विकिविश्वविद्यालय से
Jump to navigation Jump to search

कूलम्ब का नियम (Coulomb's law) भौतिक विज्ञान का एक नियम है जो स्थिर इलेक्ट्रिक चार्ज कणों के बीच लगता है।

इस नियम के अनुसार:- "दो आवेशो के बीच लगने वाला बल उन दोनो आवेशो के मान के अनुक्रमानुपाती तथा उनकी बीच की दूरी के वर्ग के व्युक्रमानुपाती होता है।"

जहां kसाँचा:Sub का स्थिरांक है (kसाँचा:Sub = साँचा:Val)

यह नियम पहली बार 1784 में फ्रांसीसी भौतिक विज्ञानी चार्ल्स अगस्टिन डी कूलम्ब द्वारा प्रकाशित किया गया था। और यह नियम विद्युत चुंबकत्व के सिद्धांत के विकास के लिए आवश्यक था। गॉस के नियम को प्राप्त करने के लिए कूलंब के नियम का इस्तेमाल किया जा सकता है और इसके विपरीत कूलंब के नियम को प्राप्त करने के लिए गॉस के नियम का इस्तेमाल भी किया जा सकता हैं। इस नियम का व्यापक परीक्षण किया गया है, और सभी टिप्पणियों ने इस नियम के सिद्धांत को बरकरार रखा है।

कूलम्ब के नियम का अनुप्रयोग:-