किरचॉफ के वोल्टेज का नियम

विकिविश्वविद्यालय से
Jump to navigation Jump to search

किसी घेरा (लूप) के परित: सभी विभवान्तरों का बीजगणितीय योग शून्य होता है; अर्थात,
v + v + v + v = ०

इस नियम को 'किरचॉफ का द्वितीय नियम', किरचॉफ का लूप (या मेश) का नियम भी कहते हैं।

T किसी घेरा (लूप) के परित: सभी विभवान्तरों का बीजगणितीय योग शून्य होता है।

अर्थात,

यहाँ, n लूप में स्थित कुछ विभवान्तरों की संख्या के बराबर हैं। ये विभवान्तर समिश्र संख्या (जैसे एसी विश्लेषण की स्थिति में) भी हो सकते हैं।

यह नियम उर्जा संरक्षण के नियम पर आधारित है।

यह भी देखें[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करें]